रोपड सिसवा मार्ग के नाले में पाइप डालने का मुद्दा गरमाया अकाली पार्षद ने आप विधायक संधू को बुला लगाए भरष्टाचार के आरोप निजी लाभ के लिए बिना टेंडर डाली जा रही पाइप का करेंगे विरोध : दविंदर ठाकुर

कुराली: नगर कौंसिल कुराली अक्सर किसी न किसी बात को लेकर चर्चाओं में रहती है इस बार फिर से एक नयी चर्चा लोगो के बीच में चर्चा का विषय बनी हुई है जिस कारण कांग्रेस और अकाली नेता आपस में उलझे हुए है और इनकी समस्याओ का हल निकलवाने के लिए आम आदमी पार्टी के विधायक कँवर संधू भी बीच में आ गये पर जब संधू नगर कौंसिल पहुंचे तो वहां पर सवन्धित अफसर कौंसिल से नदारद दिखे। संधू की हाजिरी में कौंसिल के मुलाजिमों ने बताया कि कार्यकारी अफसर गुरदीप सिंह 2 दिन कि छुट्टी पर है एवं एस ओ की डुयटी चुनाव में होने के कारण वह दफ्तर में नहीं है। इस मौके कौंसिल प्रधान कृष्णा देवी,कौंसिल उप प्रधान दविंदर सिंह ठाकुर,पार्षद परमजीत सिंह पम्मी,पार्षद कुलवंत कौर पाबला हाजिर थे । इस मौके पार्षद ठाकुर ने संधू कग हाजरी मे पत्रकारों को बताया कि रोपड से सिसवा मार्ग पर नाला साफ करवाने के नाम पर एक कांग्रेसी नेता की शह पर दुकानदारों की पक्की स्लैपे तुडवा दी गयी और अब दूकानदार स्लैप डलवाने के लिए नगर कौंसिल चक्क्र मार रहे है और सवन्धित अधिकारी उनकी कोई बात नहीं सुन रहे। ठाकुर ने बताया कि दुकानदारों को तो ये अफसर बहाने लगा रहे है कि चुनाव जाप्ता है पर वहां पर स्थित एक पंप के बाहर नाले के अंदर डालने के लिए बिना टेंडर के लाखो रुपए की पाइप भी मंगवा ली गयी है जिस कारण इस पुरे मामले में भरष्टाचार की बू आ सरेआम आ रही है । उन्होंने कँवर संधू से कहा कि पहले भी शामलात जमीन पर इनकी और से पेवर ब्लाक लगाये गये थे पर वह अब किसी को निजी लाभ देने के बिलकुल खिलाफ है और वह इन पाईपो को किसी निजी वयक्ति को इस्तेमाल नहीं करने देंगे । उन्होंने कहा कि पार्षदों के काम तो टेंडर लगने के बाद भी पेंडिंग रहते है और कुछ अफसर मिली भुगत कर बिना टेंडर के किसी को लाभ पहुँचाना चाहते है । उन्होंने कहा कि जिन दुकानदारों की स्लैपे तोडो गयी है उसको बनाना कौंसिल की जुमेवारी है। इस लिए इन सभी दुकानदारों की स्लैपे बनाई जाये । इस मौके कँवर संधू ने कहा कि वह जल्द दुबारा आयेंगे एवं मौके पर सवन्धित अफसरों से मिल जो काम जायज होगा वो करवाएंगे। वह गलत काम बिलकुल भी नहीं होने देंगे। जब इस बाबत कौंसिल के कार्यकारी अफसर गुरदीप सिंह से बात करनी चाही तो उनका फोन बंद आया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.