रयात बाहरा यूनिवर्सिटी स्कूल आफ साईंसज़ की तरफ से नैनो विज्ञान और नैनो प्रौद्यौगिकी पर सैमीनार का आयोजन

कुराली/जगदीश सिंह :रयात बाहरा यूनिवर्सिटी स्कूल आफ साईंसज़ की तरफ से नैनो विज्ञान और नैनो प्रौद्यौगिकी पर एक सैमीनार का आयोजन किया गया,जिस में अंडरगरैजूएट और पोस्ट -ग्रैजुएट विद्यार्थियों, खोज विद्वानों,फिजिक्स और रसायन शास्त्र विभाग के फेकल्टी सदस्यों ने हिस्सा लिया। इस सैमीनार मौके मुख्य प्रवक्त के तौर पर पहुँचे पंजाबी यूनिवर्सिटी पटियाला के एसोसिएट प्रोफ़ैसर डा. करमजीत सिंह ने मानवता की सेवा में नैनो विज्ञान और नैनो प्रौद्यौगिकी बारे एक माहिर भाषण दिया। इस मौके उन्होंने नैनो विज्ञान और नैनो प्रौद्यौगिकी के इतिहास और बुनियादी सिद्धांतों बारे जानकारी दी। सभी संकल्प जैसे कि नैनोसकेल, सरफेस आफ वालियम अनुपात, इलेक्ट्रोन, नैनोस्टरकचर की किस्मों बारे चर्चा की गई। इसके इलावा, उन्हेोंने नैनोस्टकरचर्ज़ में नैनोमैटीरियल, स्व विधान और मोनोडिसपरसिटी के संश्लेषण के लिए बोटम्म अप और टोप-डाउन पहुँच की व्याख्या की। इस सैमीनार का मुख्य मंतव्य नैनो विज्ञान और नैनो प्रौद्यौगिकी का प्रयोग करके प्रभावी खोज के द्वारा मानवीय जीवन को अपग्रेड करना है। माहिरों की बातचीत के बाद एक इंटरैकटिव सैशन भी किया गया और बाद में मौखिक और पोस्टर पेशकारी पर मुकाबलो के सैशन भी आयोजित किए गए और बढिय़ा प्रस्तुतीकरण के लिए विद्यार्थियों को सम्मानित भी किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *