कांग्रेसियों ने राजनीतिक बौखलाहट में करवाया झूठा परचा : राणा भानु प्रताप

पार्षद राणा भानु प्रताप पत्रकारों से वार्तालाप करते हुए।

कुराली/जगदीश सिंह :बीती 19 मई को लोक सभा चुनाव के दौरान वोट डालने की गुप्त प्रक्रिया को सोशल मीडिया पर वायरल करने के आरोप में एक कांग्रेसी नेता एवं बीजेपी पार्षद राणा भानु प्रताप के खिलाफ प्रसिडिंग अफसर की शिकायत पर मामला दर्ज करवाने के 2 दिन के इस परीकरण ने राजीनीतिक रंग लेना शुरू कर दिया है । राणा भानु प्रताप ने अपने पर लगे सभी आरोपों को निराधार एवं राजनीति से प्रेरित बताते हुए इसे कांग्रेस की घटिया राजनीति बताया है । राणा भानु ने पत्रकारों से वार्तालाप में बताया कि उन्होंने कोई भी चुनावी प्रक्रिया को लेकर कोई भी फोटो या वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल नहीं की। भानु प्रताप ने कहा कि चुनाव आयोग की और से एसडीएम कम सहायक कम ड्यूटी मजिस्ट्रेट विनोद कुमार बंसल द्वारा सेक्टर नंबर 9 रविंदर सिंह के पत्र नंबर 4181 चुनावी प्रक्रिया के दौरान वीडियो वायरल करने सवंधी कांग्रेस नेता के खिलाफ बनती कारवाई करने की हिदायत दी थी साथ में उप कप्तान पुलिस ने पत्र नंबर 4186 में भी थाना सिटी कुराली को कांग्रेसी नेता के खिलाफ मामला दर्ज करने के निर्देश दिए थे। भानु ने बताया कि इन दोनों ही पत्रों में दिए गए निर्देश उक्त कांग्रेसी नेता के खिलाफ थे जिनमे मेरा कही भी कोई नाम या जिक्र नहीं था इस के साथ बूथ नंबर 150 पर उस समय मौजूद एपीआरओ मलिका रानी ने भी जो पुलिस को शिकायत दी थी उस में उन्होंने लिखा था कि मौके पर मैंने भानु का फोन चेक किया था जिस में चुनाव सवंधी कोई वीडियो या कोई फोटो नहीं मिली थी । भानु प्रताप ने कहा कि उन्होंने चुनाव आयोग की हिदायतों की कोई उलघना नहीं की कांग्रेसी नेताओ ने धक्के शाही कर उनके खिलाफ झूठा मामला दर्ज करवाया है और उनकी छवि को बिगाडने की कोशिश की गयी है। उन्होंने प्रशासन से इस पुरे मामले की निरपेक्ष जाँच करवाने की मांग की है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.