September 30, 2020

11 महीने बीते अंडरब्रिज पर कब पडेगा शैड

अंडरब्रिज पर शैड बनाने के लिए बनाया जाल।

जगदीश सिंह कुराली:शहर के डेरा बाबा गोसाई आाा के नजदीक रेलवे रोड पर बनाए गए रेलवे अंडरब्रिज पर शैड डालने का काम अधूरा होने के कारा यह अंडरब्रिज उद्धाटन के बाद भी सरकारी मेहरबानी के इंतजार में है। अंडरब्रिज पर शैड डालने संबंधी तैयार किया पाइपों का जाल सफेद हाथी बनता जा रहा है। शहर वासियों ने इस अंडरब्रिज पर जल्द शैड डाले जाने की मांग की है। उेखनीय है शहर वासियों की मांग को देखते हुए रेलवे की ओर से कुछ समय पहले शहर की अनाज मंडी व् कई मोहो को जोड़ती रेलवे रोड के बीच आती रेलवे लाइन पर रेलवे फाटकों को खम करने के लिए अंडरब्रिज का निर्माा किया गया था। रेलवे की ओर से करोड़ों रुपए खर्च करके बनाया अंडरब्रिज करीब कई महीने पहले चालू कर दिया गया। इस अंडरब्रिज का उद्धाटन पुर्व लोक सभा मेंबर प्रो. प्रेम सिंह चंदूमाजरा द्वारा 9 सिंतबर 2018 को किया गया था। अंडरब्रिज के उद्धाटन को लगभग 11 महीने का समय बीतने के बावजूद भी इस अंडरब्रिज को अभी तक पूरा नहीं किया गया। यहाँ ये भी बताना जरुरी है कि बरसात आने पर इस अंडर ब्रिज में 10 से 20 फिट बरसाती पानी भर जाता है जिस के कारा लोगो को काफी मुश्किलों का समाना करना पडता है अगर इस ओवरब्रिज के ऊपर शैड डाल दिया जायेगा तो बरसात के कारा ब्रिज में पानी जमा नहीं होगा। बेशक रेलवे द्वारा इस अंडरब्रिज पर शैड डालने की ाोषाा की गई थी। अंडरब्रिज के शुरू से लेकर दूसरे तरफ खम होने तक इसको पाइपों का जाल डालने के बाद शैड फाइबर की शीटें डालकर ढक़ा जाना था, ताकि बारिश का पानी चादरों पर गिरने के बाद अंडरब्रिज में जाने के बजाय बाहर गिराया जा सके। लेकिन शैड डाले जाने का काम अभी तक पूरा नहीं हो सका है। अनाज मंडी व् मोहा निवासी विशाल बंसल,हैपी,हरीश,मुनीश कुमार,प्रवोध जोशी,सनी पंकज आदि ने कहा कि अंडरब्रिज को शैड बनाकर अभी तक ना ढके जाने के कारा बारिश होने के बाद भी अंडरब्रिज का रेलवे लाइन के नीचे वाला हिस्सा तालाब बन जाता है और कई फुट तक पानी जमा होने के कारा शहर दो हिस्सों में बंट जाता है। शैड डालने के बाद अंडरब्रिज में बारिश का पानी दाखिल होने का खतरा कम हो जाएगा। उहोंने केद्र सरकार और रेलवे से मांग की है कि अंडरब्रिज पर शैड डाला जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *