September 30, 2020

सज गयी बारूद की मंडी ट्रको में भर कर आ रहा शहर में बारूद डिप्टी कमिशनर की कारवाई अभी सिर्फ खानापूर्ति तक सिमित, शहर में न आयी फायर ब्रगेड,न अस्पताल में स्पेशल डॉक्टर

शहर की एक दुकान में भरा बारूद व् बारूद से भरा हुआ ट्रक।

जगदीश सिंह कुराली : बटाला कांड व् यूपी में हुए हादसे के बाद जिला प्रशासन पटाखों की बिक्री को लेकर इस बार सतर्क हो गया है। बीते कुछ दिन पहले डीसी गिरीश दयालन ने भी पटाखों की होलसेल मार्किट का दौरा किया और सख्त निर्देश दिए कि जिसके पास जितने किलो पटाखे स्टोर करने का लाइसेंस है वो उतने की पटाखे स्टोर कर सकेगा। जिस जगह का लाइसेंस है वो उसी जगह पर इन पटाखों को बेच सकेगा। डिप्टी कमिश्नर अनुसार कुराली में इस वक्त तकरीबन 8 आतिशबाजी विक्रेताओं के पास लाइसेंस हैं। लेकिन दुर्भाग्य यह है शहर में 25 से भी अधिक जगह पर लोग पटाखे स्टोर कर बेचते हैं। टेम्परेरी स्टॉल्स की तो कोई गिनती ही नहीं है। यह सब पुलिस और प्रशासन की मिलीभगत से चलता आया है ।
हर बार जारी लाइसेंस से ज्यादा पटाखे रखते हैं दुकानदार…
पटाखों की मंडी कुराली में भले ही थोक के लाइसेंस 8 जारी किए गए हैं लेकिन हर साल यहां पर पुलिस प्रशासन की लापरवाही के चलते पूरा मोरिंडा रोड और बडाली रोड पर थोक की दुकानें लग जाती है। हर दुकान में भारी मात्रा में पटाखे होते हैं। यह वो दुकानें होती है जिनके पास लाइसेंस भी नहीं होता है। फिर भी धडल्ले से पटाखे बिकते हैं। आलम यह है कि पुलिस प्रशासन के अधिकारी दीपावली से कई दिन पहले ही वहां पर चक्कर लगाने शुरु कर देते हैं। उसके बावजूद यह दुकानें नहीं हट पाती है। बहुत से दुकानदार जो अन्य सामान की दुकानें करते हैं। वे उनको खाली कर पटाखे की भर लेते हैं।
इन लोगो को जारी हुए है डीसी ऑफिस से लाइसेंस
प्रपात जानकारी मुताबिक जिले के डिप्टी कमिशनर दफ्तर की और से,बलविंदर सूद बडाली रोड कुराली 300 किलो,पवन सूद वार्ड नंबर-11 कुराली 150 किलो,दिलवाग बठला मोरिंडा रोड कुराली 300 किलो,रणवीर सिंह सूद बडाली रोड कुराली 300 किलो,हरीश कुमार बडाली रोड कुराली 300 किलो,बलराज सूद बडाली रोड कुराली 300 किलो,राजेश सूद बडाली रोड कुराली 300 किलो को लाइसेंस जारी किये गए है।
लाइसेंस से जायदा क्षमता में है बारूद
शहर के कई दूकानदार ऐसे है जिनके पास लाइसेंस तो कुछ किलो के है पर उनके गोदामों में बारूद क्वंटलो के हिसाब से भरा हुआ है। डिप्टी कमिशनर गिरीश दयालन की और से कारवाई का भरोसा दिया गया था पर आज तक उनकी कारवाई सिर्फ कागजो तक ही सिमित दिखी।
शहर में न आयी फायर ब्रगेड, न अस्पताल में स्पेशल डॉक्टर
डिप्टी कमिश्नर गिरीश दयालन की और से बीते दिन यह दावा किया गया था कि आतिशबाजी की दुकानों के पास फायर ब्रगेड व् कोई हादसा न हो इस लिए सरकारी अस्पताल में स्पेशल तोर पर डॉक्टरों की ड्यूटी लगाई जाएगी पर यह सब आज तक कागजो तक ही सिमित रहा।
शहर में आ रहे बारूद से भरे ट्रक
बेशक यहाँ विक्रेताओं के पास लाइसेंस कुछ किलो के है पर आज भी यहाँ बारूद ट्रको में भर कर आ रहा है इन से पूछने वाला आज तक कोई भी दिखाई नहीं दिया कि यह बारूद किसका है और कहा से लाया गया है ।
क्या कहा एस.डी.एम मोहाली ने
इस सबंध में जब एस.डी.एम मोहाली आडिशनल चार्ज खरड जगदीप साहिगल के साथ बातचीत की गई तों उन्होने कहा कि राज्य सरकार एवं जिला मोहाली प्रशासन शहर में आतिशबाजी के विक्रेताओं के विरुद सख्ती बरतते हुए आतिशबाजी के लिए सरकार द्वारा बनाए गए नियमों की पालना करवाने के लिए आतिशबाजी के विक्रेताओं को वाध्य करेगी । साथ ही उन्होने बताया कि जल्द ही जिला प्रशासन द्वारा गठित की गर्ई अधिकारियों की टीम द्वारा शहर में आतिशबाजी का व्यापार कर रहे व्योपरियों की दुकानों एवं गोदामों की जांच करेगी तथा अगर किसी भी व्यापारी द्वारा कानून की अनदेखी करते हुए मानक भंडारण से ज्यादा आतिशबाजी का भंडारण किया पाया गया तो उस केखिलाफ सख्त कारवाही अमल में लाई जाएगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *