September 30, 2020

दो दिन की बारिश में बह गई मोगा शहर की सड़कें

शंकर यादव, मोगा : पिछले दो दिन से हो रही बरसात से शहर की बहुत सी सड़कों पर बड़े-बड़े गडढे बन चुके हैं। बात चाहे शहर की सड़कों की हो या फिर हाईवे सर्विसलाइन की, हर तरफ पानी का जमावड़ा है या फिर कीचड़ से बनी दलदल ही नजर आ रही है।
शहर में कुछ सड़कें तो ऐसी हैं जिनके पैच वर्क को हुए दो से तीन महीने भी नहीं हुए और आलम यह है कि पैच भी उखड़ गए है। यह कहना भी गलत नहीं होगा कि इन पैच वर्क पर प्रशासन द्वारा खर्च की राशि भी जैसे इस बरसात में बह गई हो।
सर्विस लेन पर बढ़ी परेशानी
वर्ष 2012 से शहर के बीचों बीच बनने वाले फोरलेन सड़क की सर्विस लेन लोगों के लिए समस्या बनी हुई है। फिरोजपुर-लुधियाना हाईवे की सर्विस लेन पर हर ओवरब्रीज के समीप से गुजरने वालें वाहन चालकों वहां खड़े पानी या फिर कीचड़ के साथ बनी दलदल में से निकलना पड़ता है। ऐसे हालात में दोपहिया वाहन चालकों को अधिक परेशानियां झेलनी पड़ती है तथा कई बार दोपहिया वाहन गिरते भी देखे गए। लेकिन स्थिति बेहद गंभीर है, अभी तो हल्की बूंदाबांदी के चलते यह आलम है अगर बारिश तेज हो जाती है तो समस्या और भी गंभीर हो जाती है।
लाखों रुपये खर्च कर लगाए पैच भी उखड़े
प्रशासन द्वारा मेन बाजार व रेलवे रोड पर अक्तूबर माह में करीब डेढ़ लाख की राशि से करवाए गए पैच वर्क की भी पोल दो दिन की बरसात ने खोल दी है। पैच वर्क सही न होने से सड़क में गड्ढे बन गए तथा ईंटें भी नजर आने लगी हैं। बहोना चौक व मथुरा नगरी की सड़क में एक-एक फीट के गड्ढे
शहर में कई मुख्य सड़कें तो ऐसी है जिनका निर्माण हुई भी 15 वर्ष के करीब हो गए, लेकिन इनका पुन: निर्माण हो इसकी सुध अभी तक किसी ने नहीं ली। इनमें से मुख्य मोगा शहर को कोटकपूरा से जोड़ने वाली बहोना चौक वाली दो वार्डों की सांझी सड़क जिसका निर्माण करीब 15 वर्ष पहले हुआ था तथा मथूरा पुरी नगरी को जाने वाली सड़क जिसका निर्माण भी करीब 10 वर्ष पूर्व हुआ था, लेकिन इसकी भी सुध किसी ने नहीं ली। इतनी पुरानी सड़कें होने की वजह से इनमें करीब एक-एक फीट तक गड्ढे बन गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *