September 26, 2020

*7 साल 3महीने बाद निर्भया को मिला इन्साफ* *पवन जल्लाद ने खींच दिया इंसाफ का लीवर, जेल केेेे बाहर लोगोंं ने खुशी में बजाई तालियां*

दोसियो की फाइल फोटो

पंजाब अप न्यूज ब्योरो: नई दिल्ली

तिहाड़ जेल अधीक्षक द्वारा रुमाल के इशारे पर पवन जल्लाद ने आखिर आज शुक्रवार को निर्भया के गुनहगारों की जिंदगी का लीवर खींच दिया।जानकारी के अनुसार चारों आरोपियों के हाथों को पीछे कर रस्सी से बांधा गया इसकेेे बाद उन्हें फांसी घर लाया गया।
इस दौरान करीब 4 सिपाही जेल अधीक्षक जेलर और डिप्टी जेलर के साथ चिकित्सक भी मौजूद रहे। मेरठ से विशेष तौर पर आरोपियों को फांसी देने के लिए पवन जल्लाद पहले ही दिल्ली आ चुके थे। फांसी देने से पहले समान कार्य पूरी करने में काफी वक्त लग चुका था।
फांसी के तख्ते को जांचने के बाद चारों आरोपियों को एक साथ फांसी के तख्ते पर खड़ा किया गया। इस दौरान बगैर किसी से बात किए हुए केवल इशारों में ही सारी प्रक्रिया अपनाई गई। ठीक 5:30 बजे के लगभग निर्भया के चारों आरोपियों को उनके गुनाह की सजा दे दी गई।
बताया जा रहा है की निर्भया की मां ने शुक्रवार की रात जागकर काटी है। निर्भया की मां का कहना था कि वे 7 साल तक इंसाफ के लिए जागी है अब उनकी बेटी की आत्मा को निश्चित ही शांति मिलेगी। निर्भया की मां ने पूरे देश का भी आभार व्यक्त किया कि पूरा देश उसे व उसकी बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए कंधे से कंधा मिला कर खड़ा रहा।
बता दें कि चारों दोषी मुकेश पवन विनय अक्षय को पहली बार निर्भया गैंग रेप केस मामले में 2013 में सजा-ए-मौत सुनाई गई थी। 2012 में दक्षिणी दिल्ली के वसंत कुंज इलाके में चलती बस में 23 वर्षीय पैरामेडिकल छात्रा के साथ इन छह दरिंदों ने बेरहमी के साथ गैंग रेप किया था। निर्भया को इलाज के लिए विदेश भी ले जाया गया मगर उसकी जान ना बच पाई। इस घटना के बाद पूरा देश सड़कों पर उतर आया था। और आज विभाग की मां ने कहा कि ना केवल मुझे बल्कि पूरे देश को आज इंसाफ मिला है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *