*14 अप्रैल, मंगलवार सुबह 10 बजे राष्ट्र को संबोधित करेंगे पीएम मोदी,* *लॉकडाउन बढ़ाने का हो सकता है ऐलान, प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर दी जानकारी,*

पंजाब अप न्यूज: दिल्ली: कोरोना वायरस के खिलाफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन का ऐलान किया था, जो 14 अप्रैल को खत्म हो रहा है। इस बीच, प्रधानमंत्री कार्यालय ने जानकारी दी है कि पीएम मोदी 14 अप्रैल, मंगलवार सुबह 10 बजे राष्ट्र को संबोधित करेंगे। माना जा रहा है कि इस दौरान पीएम मोदी लॉकडाउन बढ़ाने का ऐलान करेंगे।

बता दें, मौजूदा हालात देखते हुए देश में एक बार फिर लॉकडाउन बढ़ाने की एक राय बन चुकी है। महाराष्ट्र, पंजाब, ओडिशा और पश्चिम बंगाल अपने स्तर पर यह फैसला भी ले चुके हैं। वैसे इस बार जरूरी चीजों के लिए छूट दी जा सकती है। हालांकि राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के बावजूद भारत में कोरोना वायरस के केस लगातार बढ़ रहे हैं।
बता दें कि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मुख्यमंत्रीयो से हुई इस बातचीत में पीएम मोदी ने कहा था कि जान है तो जहान है। उन्होंने जब राष्ट्र के नाम संदेश दिया था तो शुरू में बल दिया था कि हर नागरिक की जान बचाने के लिए लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन बहुत आवश्यक है। देश के अधिकतर लोगों ने इस बात को समझा और घरों में रहकर अपना दायित्व भी निभाया। हम सभी ने भी इसी मंत्र पर चलते हुए देशवासियों की जिंदगी बचाने का प्रयास किया।
पंजाब, पश्चिम बंगाल और ओडिशा बढ़ा चुके हैं लॉकडाउन
पंजाब, पश्चिम बंगाल और ओडिशा पहले ही अपने राज्यों में जारी लॉकडाउन की अवधि को बढ़ा चुके हैं। वहीं देश में जारी लॉकडाउन आने वाले मंगलवार को खत्म हो रहा है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने विभिन्न पहलुओं पर राज्य सरकारों से विचार मांगे हैं, जिसमें यह जानकारी भी शामिल है कि क्या अधिक लोगों और सेवाओं को छूट दी जानी चाहिए।
बता दें कि शुरू में हालात काबू में लग रहे थे, लेकिन तब्लीगी जमात के लोगों की गलती से एक तरह से मरीजों का विस्फोट हो गया है। मरीजों का ताजा आंकड़ा 9000 पार हो गया है, वहीं मृतकों की संख्या 300 पार पहुंच चुकी है।
मस्जिदों से निकल रहे विदेशी जमाती
दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज से निकलकर देश के अलग-अलग हिस्सों में जा बैठे जमातियों का अब तक पता लगाया जा रहा है। अकेले दिल्ली में पुलिस ने मरकज से गत दिनों 2300 जमातियों को निकाला था। इसके अलावा दिल्ली के विभिन्न इलाकों में छिपे 900 अन्य जमातियों को भी ढूंढ़ निकाला है। इनमें अधिकतर विदेशी नागरिक हैं। अब भी यह सिलसिला युद्धस्तर पर जारी है। इसके लिए पुलिस की सभी यूनिटें प्रशासन के संबंधित विभागों व एफआरआरओ आदि से सहयोग ले रही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed